latest two line new shayari

मेरी शायरी

ऐ बेखबर तेरे लिए एक
मशवरा है कभी हमारा ख्याल आये
तो अपना ख्याल रखना.


इतनी बदसलुकी मत कर ए जिंदगी,
हम कौन सा यहाँ बार बार आने वाले है.


पुरानी होकर भी खास होती जा रही है,
मोहब्बत बेशरम है बेहिसाब होती जा रही है.


बस कर, पत्थर होने लगी हैं आँखें ।
ऐ दिल हर रोज़, यूँ उसका रस्ता न देख


थोड़ा बचा हूँ, बाकि हिसाब हो चुका है,
बहुत कुछ है, जो मुझमें राख़ हो चुका है ।


बरसों से कायम है इश्क़ अपने उसूलों पर,
ये कल भी तकलीफ देता था ये आज भी तकलीफ देता है.


कहानी खत्म हो तो कुछ ऐसे खत्म हो,
कि लोग रोने लगे तालियाँ बजाते बजाते.


तेरी याद से शुरू होती है मेरी हर सुबह,
फिर ये कैसे कह दूँ कि मेरा दिन खराब है.


उम्र कितनी मंजिले तय कर चुकी,
दिल बेचारा वहीँ का वहीँ रह गया.


smiley-next




  • 10 Replies to “latest two line new shayari”

    1. hi!,I really like your writing very so much! proportion we be in contact more approximately your article on AOL? I require a specialist on this house to unravel my problem. Maybe that is you! Looking ahead to look you.

    2. I’ve been absent for some time torpeders, but now I remember why I used to love this website. Thanks , I will try and check back more frequently. How frequently you update your web site?

    3. Wonderful article! This can be the sort of info that are supposed to be shared over the net.
      Shame on the search engines for now not positioning this set up upper!
      Happen over and talk over with my website . Thanks =)

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *