जानिए पढाई में अपना मन कैसे लगायें – janiye Padhai Me Man kese lgayen

हमेशा Positive Attitude रखे। हम जैसा सोचते हैं वैसा हमारे जीवन में होने लगता है।

आज इस लेख के माध्यम से आपके लिये पढाई में मन लगाने का मंत्र – Padhai Me Man Lagane Ka Mantra दिये हैं। जो विद्यार्थीयों के लिये काफी मदतगार साबित होंगे।

पढाई में अपना मन कैसे  – Padhai Me Man kese lgayen

दोस्तो, अकसर प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी करने वाले प्रतियोगियों के सामने यह समस्या आती है, कि पढाई में मन नही लगता है । मगर पढना प्रतियोगी परीक्षा के लिए बहुत जरुरी है । तो मेरे अनुभव और विचार से तो सबसे पहले पढाई में मन न लगने के कारन का पता लगाना चाहिए कि आखिर पढाई में मन क्यों नही लग रहा है ?

नया Session शुरू होने जा रहा है। बच्चों के खेल कूद के दिन भी खत्म होने वाले है, और 10-12 के Board Exam के लिए भी अभी से बच्चे मेहनत शुरू कर देंगे।

बहुत से बच्चों की शिकायत रहती है की वो पढ़ते तो बहुत है पर उनके उतने अच्छे नंबर नहीं आ पाते जितने की उनसे कम पढ़ने वाले बच्चों के आ जाते है। मेरे विचार से कुछ सामान्य कारण ये हो सकते है :

१- पढाई का उपयुक्त माहौल का न होना ।
२- पढने का उचित समय का न होना ।
३- पढने के लिए उपयुक्त सामग्री का न होना ।
४- उचित मार्गदर्शन का न होना ।
५-अन्य कार्यो से व्यवधान ।
६- एकाग्रता की कमी होना ।
७- दृढ निश्चय का अभाव।

तो चलिए जानते हैं ऐसे कारण जो आपको अच्छे नंबर लाने से रोकते हैं।

अब हम मूल मुद्दे पर आते है , कि कैसे हम पढाई में मन लगाये : –
सबसे पहले तो पढने के लिए एक लक्ष्य या उद्देश्य होना जरुरी है , यह हमारे लिए प्रेरक का कार्य करता है । अगर लक्ष्य विहीन है ,तो हमारी सफलता शंकास्पद होगी । अतः एक लक्ष्य होना अति आवश्यक है । एक से अधिक लक्ष्य होने से मन अधिक भटकता है और पढाई में मन नही लगता है ।

अब लक्ष्य निर्धारण के बाद समुचित तैयारी जरुरी है , अर्थात हमें अपने लक्ष्य के बारे में पूरी जानकारी जुटानी होगी , कि  –

1.परीक्षा कैसे होगी ?
2.सिलेबस क्या है ?
3.पैटर्न किस तरह का है ?
4.प्रश्न किस तरह के आते है ?
5.पाठ्य सामग्री कहाँ से , कैसे मिलेगी ?
6.तैयारी की रणनीति क्या होगी ?
7.सफलता के लिए कितनी मेहनत जरुरी है ?
8.सफल लोगो की क्या रणनीति रही थी ? इत्यादि

अगर हम इन प्रश्नों के उत्तर प्राप्त कर लेते है तो , हमारी समास्या का आधा समाधान हो जायेगा । अब आधे समाधान के लिए हमें अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित करना होगा । मतलब सेल्फ मेनेजमेंट यदि हम खुद को सही तरीके से प्रतियोगिता के हिसाब से नही ढाल पाते है, तो सफलता में संदिग्धता होगी । हमें अपनी पढाई का समय और घंटे अपनी क्षमता के अनुसार निर्धारित करने होंगे । और निर्धारित समय सरणी का द्रढ़ता के साथ पालन करना होगा । इसके लिए हम प्रेरक व्यक्तिवो , प्रेरक प्रसंगों, प्रेरक पुस्तकों आदि का सहर ले सकते है ।

पढाई करते समय ध्यान देने योग्य बाते  और पढ़ाई में आने वाली रुकावट :

1. Regular स्टडी नहीं करना – आप में से कई बच्चे ऐसे होंगे जो सिर्फ Exam के दिनों में पढ़ते होंगे। या Exam से कुछ दिन पहले पढ़ना शुरू करते हैं।

2. क्रिकेट या किसी और गेम में ज्यादा समय देना – खेलना शारीरिक और मानसिक दोनों स्वास्थ्य के लिए बहुत ज़रूरी है। पर ज़रूरत से ज्यादा समय क्रिकेट देखने या किसी और गेम, में बिताना आपके स्वास्थ्य के साथ साथ आपकी पढ़ाई में भी बाधक है।

3. T.V या Internet में ज्यादा रूचि होना – News या दूसरे ज्ञानवर्धक Program देखना अच्छा है पर T.V व Internet पर ऐसी बहुत सी चीज़े हैं जो न केवल हमारा समय बेकार करती है बल्कि हमारा पढ़ाई में भी मन नहीं लग पाता।

4. आलस्य का होना – बच्चों में आलस्य का होना उनकी असफलता का सबसे बढ़ा कारण है। जिन बच्चों के अच्छे नंबर आते है ऐसा नहीं है की उनकी बुद्धि आपकी बुद्धि से ज़्यदा तेज़ है। बस उनमे एक Quality है वो बिना आलस्य किये लगातार लगे रहते है।

“ऐसा छात्र जो प्रश्न पूछता हैं, वो कुछ समय के लिये मुर्ख कहलाता हैं।
लेकिन् जो पूछता ही नहीं, वो जिंदगीभर के लिये मुर्ख रहता हैं।”

5.. हर काम को समय पर पूरा करे । बचपन से जब हम ये आदत डाल लेंगे तो हमें कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता। काम को टालने की कोशिश न करके उसे उसी समय पूरा करे। इस आदत से अपनी पढ़ई भी समय से कर पाएंगे।

6. Exercise आपके स्वास्थ्य और दिमाग दोनों को फिट रखने का सबसे अच्छा तरीका है। कम से कम 20 मिनट Exercise ज़रूर करें।

7. बहुत से बच्चे पढ़ना तो चाहते है पर उनका मन इधर उधर भागने लगता है। अपने मन को Concentrate करने के लिए Meditation सबसे अच्छा तरीका है बच्चों के लिए Meditation करने का सबसे अच्छा तरीका है की शांत जगह ओर बैठकर 1-100 तक काउंट करें। इससे आपकी स्मरण शक्ति भी बढ़ेगी।

8. रात को पढ़ने की जगह सुबह जल्दी उठकर पढ़ने का अभ्यास करे – सुबह हमारा mind fresh होता है जिससे याद किया गया कोई भी topic जल्दी याद हो जाता है। पढाई हमेशा कुर्सी-टेबल पर बैठ कर ही करें , बिस्तर पर लेट कर बिलकुल भी न पढ़े । लेटकर पढने से पढ़ा हुआ दिमाग में बिलकुल नही जाता , बल्कि नींद आने लगती है ।

9. T.V, मोबाइल, खेलने के लिए टाइम सेट कर ले और उसी टाइम खेले और T.V. देखे। कभी भी पढ़ते समय मोबाइल को अपने पास न रखे। पढ़ते समय टेलीविजन न चलाये और रेडियो या गाने भी बंद रखे ।

10. पढाई के समय मोबाइल स्विच ऑफ़ करदे या साईलेंट मोड में रखे ,” मोबाइल पढाई का शत्रु है ”

11. किसी भी चैप्टर को याद करने के बाद उसे एक week बाद revise ज़रूर करें। फिर 1 month बाद revise करें इससे वो चैप्टर पक्का याद हो जाता है। कोई भी पाठ्य कम से तीन बार जरुर पढ़े ।

12. अपना एक लक्ष्य बनाए और उसे बार बार दोहराते रहे जैसे इस साल मुझे 90% मार्क्स लाने है।

13. रटने की प्रवृत्ति से बचे , जो भी पढ़े उस पर विचार मंथन जरुर करें । पढ़े हुए पाठ्य को लिखते भी जाये इससे आपकी एकाग्रता भी बनी रहेगी और भविष्य के लिए नोट्स भी बन जायेंगे ।

14. संतुलित भोजन करें क्योंकि ज्यादा भोजन से नींद और आलस्य आता है , जबकि कब भोजन से पढने में मन नही लगता है ,और थकावट, सिरदर्द आदि समस्याएं होती है ।

15. Parents भी बच्चों की पढ़ाई के समय T.V न देखे इससे बच्चे का मन भी पढ़ाई में नहीं लगता।

16.  शार्ट नोट्स जरुर बनाये ताकि वे परीक्षा के समय काम आये ।

17.  पढ़े हुए पाठ्य पर विचार -विमर्श अपने मित्रो से जरुर करें , ग्रुप डिस्कशन पढाई में लाभदायक होता है।

18. चित्रों , मानचित्रो , ग्राफ , रेखाचित्रो आदि की मदद से पढ़े । ये अधिक समय तक याद रहते है ।

19. पुराने प्रश्न पत्रों के आधार पर महत्वपूर्ण टोपिक को छांट ले और उन्हें अच्छे से तैयार करें ।

20. Session की शुरुआत से ही पढ़ई शुरू कर दे जिससे हर चैप्टर आराम से कवर हो जाएगा। Exam के समय tension नहीं होगी जिससे आप exam में अच्छा perform कर पाएंगे।

21. हमेशा Positive Attitude रखे। हम जैसा सोचते हैं वैसा हमारे जीवन में होने लगता है।

22. पढाई में कंप्यूटर या इन्टरनेट की मदद ले सकते है ।

Note: E-MAIL Subscription करे और पायें Pariksha Me Safalta Ke Upay In Hindi For Students And More New Article आपके ईमेल पर.

***** समस्त हिन्दी कहानियों का सॅंग्रह ज़रूर पढ़ें ******

इससे पहले कि सपने सच हों आपको सपने देखने होंगे!

Inspiring Real Life Incidents from Dr. A.P.J Abdul Kalam’s Life in Hindi read more…

आत्मबल की कमी है तो पढ़ें ये 7 कहानियां

Inspirational Hindi Story of Buddha सब्र का फल,

जिंदगी बदलना चाहते हैं तो ये कहानियां जरूर पढ़े ==> यहाँ क्लिक करें

Home Sitting job Earn Money by referral income

Sakaratmak Soch Kaise Banaye Positive Thinking

4 Ways To Turn Apathy Into Positive Motivation

Make money with BidVertiser 100% sure

Secrets To Closing More Life Insurance Sales

कैसे पढ़ें किसी की दिमागी शैतानियां?

 




  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *