दिल को मजबूत करने के घरेलू उपचार 

हार्ट अटैक या दिल की बीमारियों से हर साल लाखों लोगों की मौत होती है । इसलिए बीमारी में डॉक्टर से तुरंत परामर्श लेना जरुरी होता है । वैसे इस बीमारी से समय रहते थोड़ा ध्यान रखकर भी निशचित  ही बचा जा सकता है । यहाँ हम आपको दिल को मजबूत करने के लिए कुछ घरेलू  उपाय बताने जा रहे है :-

आहार की देखभाल

1  . सरसों के तेल का नियमित इस्तेमाल खाने में करने से स्वास्थ्य  को बेहतर बनाया जा सकता है । इसमें आवश्यक फैटी एसिड से दिल की बीमारियों के जोखिम को 70  प्रतिशत कम  किया जा सकता है ।
2  . कच्चा लहसुन रोज सुबह खाली पेट छीलकर खाने से खून का संचार ठीक बना रहता है और दिल को मजबूत बनाता है ।
3  . सेब का जूस और आंवले का मुरब्बा खाने से दिल मजबूत बनता है ।
4  . एक चम्मच शहद रोज लेने से दिल मजबूत बनता है ।
5  . 50  ग्राम ग्वारपाठा रोज खाली पेट लेने से कोलेस्ट्रॉल काम हो जाता है।
6  . लौकी को उबालकर उसमें  धनिया , जीरा व हल्दी का चूर्ण तथा हरा धनिया डालकर कुछ देर पकाकर इसे सप्ताह में काम से काम 2 – 3  बार खाइये । इससे दिल को ताकत मिलती है ।
7  . अनार के रस  में मिश्री मिलाकर  सुबह – शाम पीने से दिल मजबूत बनता है ।
8  . बादाम खाने से दिल सेहतमंद रहता है क्योंकि इसमें विटामिन और फाइबर भरपूर मात्रा में होता है।
9  . अर्जुन की छाल  और प्याज को बराबर मात्रा में पीसकर तैयार कर प्रतिदिन आधा चम्मच दूध के साथ लेने से ह्रदय रोगों में बहुत लाभ मिलता है।
10 . अलसी के तेल का प्रयोग खाने में करें ।अलसी में ओमेगा – 3  फैटी  एसिड भरपूर मात्रा में होता है जिससे दिल मजबूत बनता है ।
11 .  छोटी इलायची और पीपरामूल का चूर्ण भी घी  के साथ खाने से दिल मजबूत रहता है ।
12 .  दिल को मजबूत बनाने के लिए गुड़ को देसी घी में मिलाकर नित्य खाने से भी बहुत फायदा होता  है।
13 . गाजर के रस  में शहद मिलकर पीने से भी दिल मजबूत होता है ।
14 . अलसी के पत्ते और सूखे धनिया का काढ़ा  बनाकर पीने से भी दिल की कमजोरी मिटती  है ।
15 . 10 ग्राम अनार के पत्ते लेकर 10  ग्राम पानी में डालकर हल्की आंच पर उबालें । यह काढ़ा  सुबह – शाम पीने से दिल मजबूत बनता है , और दिल की धड़कन सामान्य बनती  है ।
16 . गाजर के 200  ग्राम ताजे रस  में 100 ग्राम पालक का रस  मिलाकर सुबह – सुबह प्रतिदिन पीने से दिल की धड़कन काबू में रहती है , दिल मजबूत रहता है ।
17 . रोज कम  से कम  2  किलोमीटर पैदल चलने से दिल स्वस्थ बना रहता है ।
18 . कपाल  भारती और अनुलोम विलोम प्राणायाम दिल को मजबूत बनाने के लिए चमत्कारी रूप से लाभकारी है ।
19 . मिश्री और सूखे आंवले को बराबर मात्रा में पीसकर एक चम्मच फांक नित्य पानी के साथ सेने से दिल की बीमारी दूर होती है ।
20 . दूध में पिसा  हुआ आंवला गोलकार पीने से ह्रदय  रोग की समस्या दूर होती है । यह एक दिन में दो बार पीने से लाभ होता है।
21 . नींबू  को पानी में निचोड़कर कुछ दिनों तक नियमित सेवन करें । ऐसा करने से दिल कि  बीमारी से मुक्ति मिलती है और दिल में जमी हुई गंदगी दूर हो जाती है ।
22 . 50  ग्राम उडद की दाल रात को बर्तन में भिगों  ले और सुबह इसको पीसकर आधा गिलास दूध में मिश्री घोलकर पीने रहने से दिल की कमजोरी दूर होगी और दिल के दौरे पड़ने की संभावना न के बराबर हो जाएगी ।
23 . ठंडी के मौसम में 3 से 4  काली मिर्च , चार बादाम और 5  से 6  तुलसी के पत्तों को पीसकर आधे कप पानी में डालकर पीते रहने से कुछ ही दिनों में दिल की कमजोरी दूर हो जाएगी ।
24 . सौंठ , पके फालसे का रस  और चीनी को मिलाकर पीते रहने से भी दिल के दौरे में निजात मिलता है ।
25 . दिल को हमेशा जवां  और मजबूत रखना है तो चुकुन्दर का सेवन करना चाहिये ।
26 . सोते समय खर्राटों को कम  करने का प्रयास करें ।
27 . नमक का प्रयोग कम  से कम  करें ।
28 . अदरक के रास के साथ शहद के  ह्रदय  की कमजोरी दूर होती है ।
29 . अंगूर हृदय रोगों में उपकारी है। जिस व्यक्ति को हार्ट अटैक का दौरा पड चुका हो उसे कुछ दिनों तक केवल अंगूर के रस के आहार पर रखने के अच्छे परिणाम आते हैं।इसका उपयोग हृदय की बढी हुई धडकन को नियंत्रित करने में सफ़लतापूर्वक किया जा सकता है। हृदयशूल में भी लाभकारी है।
30 . दिल की सेहत के लिए नियमित रूप से हल्दी का सेवन बहुत जरुरी है । आयुर्वेद में कहा गया है कि  कम  से कम  500 मिलीग्राम हल्दी रोज खाना चाहिए । हल्दी हमारे शरीर में खून का थक्का नहीं बनने देती  क्योंकि यह खून को पतला करने का काम करती है ।

 

३१. दिल की देखभाल का सबसे आसान तरीका है असामान्य खान-पान पर नियंत्रण रखना। आप जो भी खाएं, उससे पहले यह सुनिश्चित जरूर कर लें कि यह आपके दिल की सेहत के लिए अच्छा रहेगा या नहीं। डेयरी उत्‍पादों और मीट का सेवन कम करें। साथ ही दिल को मजबूत रखने के लिए फल और हरी सब्जियों का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। जिनमें विटामिन और मिनरल का अच्‍छा स्रोत होता है। सब्जियों और फलों में ऐसे तत्‍व पाए जाते हैं जो कि दिल की बीमारियों के रोकथाम के लिए बहुत उपयोगी होते हैं।

हालांकि वा‍स्‍‍तविक लक्षण दिखाई देने से पहले दिल से जुड़ी समस्‍याओं के बारे में पता लगाना आसान नहीं होता। लेकिन जीवन शैली में कुछ परिवर्तन करके हार्ट डिजीज को रोकने के उपाय किए जा सकते हैं।

दिल को स्वस्थ रखने के लिए 5 कारगर एक्सरसाइज

दिल को सेहतमंद रखने के लिए बहुत जरूरी है कि हम संतुलित जीवनशैली अपनाएं और नियमित व्‍यायाम करें। लेकिन, आज की भागदौड़ भरी जिंदगी का सीधा असर हमारे नाजुक दिल पर पड़ता है। नतीजा, दिल से जुड़ी बीमारियों में इजाफा हुआ है। कम उम्र के लोगों में भी हार्ट अटैक के मामले देखने को मिल रहे हैं। एक मशहूर ह्दय रोग विशेषज्ञ का कहना है कि भगवान ने हमारा दिल 80 वर्ष की उम्र तक सही सलामत काम करने के लिए बनाया है अगर इससे पहले हमें दिल संबंधी कोई बीमारी होती है तो इसके लिए हम और हमारी दिनचर्या जिम्‍मेदार है ना कि भगवान।

व्यायाम और खेलकूद स्वस्थ्य जीवन शैली के मूलाधार हैं। शारीरिक श्रम करने से एक ओर जहां हमारे मसल्स मजबूत होते हैं, वहीं दूसरी ओर दिल (हृदय) भी स्वस्थ और मजबूत बना रहता है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी नहीं कि हम किसी एथलीट की तरह कोई खास एक्सरसाइज करें। यदि आप दोस्तों के साथ बातचीत करते हुए रोज आधे घंटे टहलते हैं तो भी बहुत बड़ा फर्क देख सकते हैं।
अच्छा होगा कि आप कोई भी एक्सरसाइज शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर या हेल्थ कंसल्टेंट से संपर्क जरूर करें। दिल को मजबूत रखने के लिए नीचे दी गई पांच बेस्ट एक्सरसाइज कर सकते हैं:
एरोबिक्स: एक स्वस्थ दिल के लिए, विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि सप्ताह में कम-से-कम एक दिन 30 मिनट तक एरोबिक एक्सरसाइज करें। जॉगिंग करना, दौड़ना, साइकिल चलाना आदि एरोबिक एक्सरसाइज में शामिल है।

सीढ़ी चढ़ना: यह ऐसी गतिविधि है जिसे घर पर या अपने वर्कप्लेस (कार्यस्थल) दोनों जगह किया जा सकता है। यह भी एक तरह की एरोबिक एक्सरसाइज ही है। विशेषज्ञों का मानना है कि किसी भी एरोबिक एक्सरसाइज से अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए आपके दिल की धड़कन (हार्टबीट) को सामान्य से अधिक 50 और 85 फीसदी तक बढ़ा सकते हैं।

ताई ची: गहरी सांस, एकाग्रता और लयबद्ध शारीरिक गतिविधियों के जरिये ताई ची का अहम हिस्सा हैं। ताई ची तनाव कम करने और दिल को मजबूत बनाने के लिये कारगर नुस्खा है।

डांसिंगः दिल को मजबूत रखने के लिये डांसिंग सबसे अच्छी और रोचक एक्सरसाइज है। जो लोग कार्डियावेस्कुलर बीमारियों से ग्रसित हैं, उनके लिये ये सबसे बेहतरीन एक्सरसाइज है। हालांकि ये आप पर निर्भर है कि इसका कितना अभ्यास करना है। प्रति मिनट 120 से 135 बीट को  अच्छी एरोबिक बीट माना जाता है।

स्ट्रेचिंगः स्ट्रेचिंग आपके एक्सरसाइज चार्ट का एक निश्चित हिस्सा होना चाहिये। कई लोगों के लिये बेहद मुश्किल हो सकता है, लेकिन सप्ताह में कम से कम दो बार इसे करने से धीरे-धीरे आपको इसका अभ्यास हो जाता है। हालांकि स्ट्रेचिंग करते वक्त आपको बेहद सतर्क रहना होगा और यदि किसी शारीरिक समस्याओं के चलते ज्यादा दर्द हो तो स्ट्रेचिंग करने से बचना चाहिये।


धूम्रपान को कहें अलविदा सिर्फ एक घंटे के बितर

दिल पर सबसे बुरा असर धूम्रपान का पड़ता है। अगर आप धूम्रपान करते हैं तो जल्‍दी छोडने की कोशिश कीजिए। आपकी धूम्रपान की आदत छुड़ाने में खान-पान की भूमिका अहम होती है। विटामिन से भरपूर चीजें जैसे कि रसीले फल, शिमला मिर्च, आंवला आदि खाने से धूम्रपान करने की इच्छा कम होती है। शुगर फ्री कैंडी से अपने मुंह को व्यस्त रखें। धूम्रपान की तलब लगने पर कुछ सूखे मेवों की महक आपका ध्यान भटका सकती है। इस लेख को जरुर पड़ें केसे  धूम्रपान को कहें अलविदा सिर्फ एक घंटे के बितर 

नोट  :- इस लेख में बताये गए नुस्खे आपकी जानकारी के लिए है। कोई भी उपाय करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।